News4Bharatबॉलीवुडमनोरंजनमूवीस्पेशल

मुमताज का जूनियर आर्टिस्ट से लीड एक्ट्रेस तक का सफ़र

आज के ही दिन मुमताज का जन्म 1947 को मुंबई में हुआ था. 12 साल की उम्र में मुमताज ने फिल्मी दुनिया में कदम रखा था.  60 के दशक में मुमताज ने जूनियर आर्टिस्ट के रूप में काम करना शुरू किया . कई फिल्मों में उन्होंने स्टंट हीरोईन के तौर पर भी काम किया. फिर ये रेस्लर हीरो दारा सिंह की हीरोइन बन गईं. मुमताज को लेकर ये किस्सा काफी मशहूर रहा है कि जब दारा सिंह नए-नए इंडस्ट्री में आए तो उनके साथ कोई हीरोइन काम नहीं करना चाहती थी. तब डायरेक्टर ने दारा सिंह से मुमताज का नाम बताया था. दारा सिंह ने कहा मुझे हीरोइन से नहीं, केवल अपनी फिल्म से मतलब है.

इस दरमियान मुमताज फिल्मों में बतौर लीड अभिनेत्री के तौर पर आ गयी . दारा सिंह के साथ कई सारी फिल्में करते समय उनके ऊपर एक्शन हीरोइन का लेबल लग गया. कोई भी प्रोड्यूसर उन्हें एक रोमांटिक हीरोइन के रूप में नहीं लेना चाहता था. इस तरह मुमताज धीरे-धीरे सह-कलाकार की भूमिका निभाती रहीं. इस बीच उनके अभिनय को सराहा गया . और उन्हें फिल्म राम और श्याम में दिलीप कुमार के साथ लीड एक्ट्रेस के रूप में काम करने का मौका मिला..

उन दिनों मुमताज और शम्मी कपूर के बीच अफेयर की चर्चा भी जोरों पर रही. अफवाहें यहाँ तक भी फैलीं कि दोनों शादी करेंगे. मगर ऐसा कभी हो ना सका. लंबे वक्त बाद एक इंटरव्यू के दौरान मुमताज ने शम्मी के साथ शादी ना करने कि वजह बताते हुए कहा कि शम्मी कपूर शादी के बाद उन्हें काम नहीं करने देंगे और ये वो समय था जब कहा जाता है कि मुमताज़ कि फिल्में सुपरहिट हो रही थीं. कहा जाता है कि राजेश खन्ना के साथ मुमताज की जोड़ी खूब जमी थी . फिल्म दो रास्ते की कामयाबी के बाद इन दोनों ने एक के बाद एक 8 सुपरहिट फिल्में दीं. मुमताज ने मयुर माधवनी को वर्ष 1974 में अपना जीवन साथी चुना .

Show More

Related Articles

Close