News4Bharatनेशनलपटनाबिहारराज्य

फेडरेशन ऑफ रेजीडेंट डॉक्टर एसोसिएशन ने किया ऐलान, AIIMS डॉक्टरों का हड़ताल आज भी रहेगा जारी

एनएमसी विधेयक के विरोध को लेकर चिकित्सक आज भी हड़ताल पर जायेंगे. इस दौरान डॉक्टर ओपीडी और आपातकालीन सेवांए भी रद्द रखेंगे. रेजीडेंट डॉक्टरों ने भी इस हड़ताल का समर्थन करते हुए कार्य बहिष्कार करने की बात कही है.


फेडरेशन ऑफ रेजीडेंट डॉक्टर एसोसिएशन के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने डॉक्टरों की समस्याओं का निदान, अब तक नहीं किया है. गुरुवार को डॉक्टरों की हड़ताल से, दिल्ली और पटना में हजारों मरीजो को, इलाज के लिए भटकना पड़ा. लगभग 80 हजार मरीज इस हड़ताल से, बुर तरीके से प्रभावित हुए.

दिल्ली के राम मनोहर लोहिया, लोकनायक, एम्स, सफदरजंग, जीबी पंत, जीटीबी, हिंदूराव लेडी हार्डिंग, जैसे बड़े अस्पतालों में, हड़ताल का सबसे ज्यादा असर देखने को मिला. यहां ओपीडी, वार्ड सेवाएं और इमरजेंसी सेवाएं भी ठप रहीं.

सफदरजंग और एम्स के डॉक्टरों ने, संसद भवन तक मार्च कर अपना विरोध जताया.  संसद भवन के सामने भी कुछ डॉक्टरों ने, प्रदर्शन कर अपना विरोध व्यक्त किया. एम्स में गुरुवार को करीब, 700 छोटी-बड़ी सर्जरी हड़ताल के कारण टल गई. सफदरजंग में 300, जीटीबी अस्पताल में 50, लोकनायक में 110, जीबी पंत में 80 सर्जरी रद्द हो गई.

बिहार के राजधानी पटना के फुलवारी में स्थित, एम्स में भी चिकित्सा व्यवस्था बुरे तरीके से प्रभावित रही. डॉक्टरों ने संस्थान के मेन गेट पर प्रदर्शन किया. राष्ट्रीयआयुर्विज्ञान आयोग (एनएमसी) विधेयक के विरोध में डॉक्टरों ने केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन के खिलाफ नारेबाजी भी की.

Show More

Related Articles

Close