News4Bharatपटनाबिहारराज्य

बिहार: 22 जिलो में सूखा, तो वहीं 13 जिले बाढ़ग्रस्त , मंत्री हालात का जायजा लेकर सौपेंगे रिपोर्ट

पटना : बिहार में किसान कहिं सूखे की मार झेल रहे है ,तो कही बाढ़ की स्थिति  बनी हुई है. एक साथ बाढ़ और सूखे की मार से किसान और आम-जनजीवन बुरे तरीके से प्रभावित हुआ है.

जहाँ एक तरफ बाढ़ के कारण कई लोगो की अब तक मौत हो चुकी है, तो वहीं किन्ही क्षेत्रों में खेतों में दरारें पड़ गयी है.

गौरतलब है की बिहार के 22 जिले सूखे घोषित हो चुके है ,तो वहीं 13 जिलों में बाढ़ ने कोहराम मचा रखा है. मौसम विभाग के अनुसार  मानसून का प्रभाव राज्य के सिर्फ 16 जिलों पर ही दिखा है जबकि बारिश औसत से 2% अधिक हुई है.


कृषि वैज्ञानिकों के अनुसार ,धान रोपनी का समय भी जुलाई के आखिरी सप्ताह तक ही था. ऐसे में बारिश न होने के कारण, धान की रोपाई भी नहीं हो पा रही है.

बाढ़ और सूखे की चपेट में फंसे किसानो की स्थिति  दयनीय है. बिहार भर में धान की रोपनी आधे से भी कम हुई है,आठ जिलों में यह 20 प्रतिशत से भी कम है. सरकार के द्वारा बाढ़ और सुखाड़ से प्रभावित जिलों के प्रभारी मंत्री को निर्देश दिया गया है की, 7 अगस्त तक हालात का जायजा लेकर ,सरकार को रिपोर्ट सौपें।

Show More

Related Articles

Close