News4Bharatराजनीति

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में ली अंतिम सांस

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और गांधी परिवार की करीबी शीला दीक्षित अब इस दुनिया में नहीं रही। शीला दीक्षित का 81 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। शीला दीक्षित की दिल्ली में आज मृत्यु हो गई। बीते काफी दिनों से वह  बीमार चल रही थीं और आज सुबह दिल्ली के एस्कॉर्ट हॉस्पिटल में उन्हें भर्ती करवाया गया था। आपको बता दें उन्हें उलटी की शिकायत के बाद अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। शीला दीक्षित फिलहाल दिल्ली कांग्रेस की अध्यक्ष थीं और उन्होंने लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर-पूर्वी दिल्ली से मनोज तिवारी के खिलाफ चुनाव भी लड़ा था।

शीला दीक्षित साल 1998 से 2013 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। वहीँ उनके नेतृत्व में लगातार तीन बार कांग्रेस ने दिल्ली में सरकार बनाई। आपको बता दें शीला सबसे लंबे समय (15 साल) तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं। कांग्रेस की कद्दावर नेता रहीं शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था। बता दें उन्होंने दिल्ली के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से पढ़ाई की और फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस कॉलेज से मास्टर्स ऑफ आर्ट्स की डिग्री हासिल की।

दीक्षित साल 1984 से 1989 तक उत्तर प्रदेश के कन्नौज से सांसद रहीं। वहीँ बतौर सांसद वह लोकसभा की एस्टिमेट्स कमिटी का हिस्सा भी रहीं। शीला दीक्षित को दिल्ली का चेहरा बदलने का श्रेय दिया जाता है। वहीँ उनके कार्यकाल में दिल्ली में विभिन्न विकास कार्य हुए। वहीँ नितिन गडकरी ने भी उनके निधन पर शोक जताया है।

 

 

Show More

Related Articles

Close