News4Bharatराजनीतिस्पेशल

कर्नाटक में शुक्रवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं येदियुरप्पा, अमित शाह से आज करेंगे मुलाकात

21 दिन से चल रही कर्नाटक में भारी सियासी उठापटक के बाद कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार आखिरकार गिर गई।
विधानसभा में मंगलवार को कर्नाटक में हुए फ्लोर टेस्ट में भारतीय जनता पार्टी ने वो जादुई आंकड़ा छू लिया है जो कर्नाटक में सत्ता हासिल करने के लिए जरूरी होता है। आपको बता दें फ्लोर टेस्ट में जहां कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन को 99 वोट मिले तो वहीं बीजेपी को 105 वोट मिले। वहीं कर्नाटक में पिछले 21 दिन से चल रही सियासी उठापटक का आखिरकार अंत हो गया है। बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ बीजेपी नेता बीएस येदियुरप्पा शुक्रवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं। वहीं बीजेपी ने आज पार्टी के विधायक दल की बैठक बुलाई है। इस बैठक में बीएस येदियुरप्पा को विधायक दल का नेता चुना जा सकता है।

अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक, बीएस येदियुरप्पा कुछ देर में राज्यपाल से मुलाकात करेंगे।  वहीं इसके बाद येदियुरप्पा आज शाम बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात करने वाले हैं। आपको बता दें शुक्रवार को शपथ ग्रहण करने के साथ ही बीएस येदियुरप्पा चौथी बार कर्नाटक के मुख्यमंत्री बनेंगे। वहीं पिछले साल कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद मई महीने में बीएस येदियुरप्‍पा ने मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली थी लेकिन  बहुमत साबित करने में असफल रहने के कारण 56 घंटे बाद ही उन्‍हें पद छोड़ना पड़ा था। वहीं अब फिर से उनके मुख्‍यमंत्री बनने की संभावना बन रही है।

बता दें उनके वोटिंग के तुरंत बाद बीजेपी राज्‍य प्रमुख बीएस येदियुरप्‍पा ने राज्‍य सरकार का नेतृत्‍व करने की घोषणा की। अगर जमीनी स्‍तर पर देखें तो यह इतना भी आसान नहीं होगा, क्‍योंकि 224 संख्‍याबल वाले विधानसभा में बहुमत हासिल करने के लिए 113 की संख्‍या होनी चाहिए। बता दें वैसे तो बीजेपी सरकार को उपचुनाव तक कोई दिक्‍कत नहीं होने वाली है लेकिन अगर उपचुनाव में भी कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन एक साथ मिलकर चुनाव लड़ते हैं और परिणाम उनके पक्ष में जाता है तो फिर सियासी उठापटक शुरू हो सकती है।

 

Show More

Related Articles

Close